जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ की बैठक


देवरिया टाइम्स।
जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आज सायं राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश के अनुसार राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को मतदेय स्थलों के संभाजन के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में जनपद में कुल 23,61,780 मतदाता है। संभाजन के पश्चात कुल 1583 मतदान केंद्रों में 2572 मतदेय स्थल होंगे। संभाजन के पूर्व जनपद में कुल 1593 मतदान केंद्र एवं 2733 मतदेय स्थल थे। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदेय स्थलों का संभाजन 1500 मतदाताओं के आधार पर किया गया है।

मतदेय स्थलों के संभाजन के प्रस्तावित आलेख्य के अनुसार रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल 3,20,671 मतदाता है जिनके लिए संभाजन के पश्चात कुल 202 मतदान केंद्रों पर 364 मतदेय स्थल होंगे। देवरिया सदर विधानसभा क्षेत्र में कुल 350 593 मतदाता हैं। संभाजन के पश्चात कुल 179 मतदान केंद्रों पर 370 मतदेय स्थल होंगे। पथरदेवा विधानसभा क्षेत्र में 338 272 मतदाता है यहां संभाजन के पश्चात 233 मतदान केंद्र पर 368 मतदेय स्थल होंगे।

रामपुर कारखाना विधानसभा क्षेत्र में 3,55,168 मतदाता है। यहां पर संभाजन के पश्चात 259 मतदान केंद्रों पर 384 मतदेय स्थल होंगे। भाटपाररानी विधानसभा क्षेत्र में 3,37,258 मतदाता हैं, यहां 251 मतदान केंद्रों पर 388 बूथ होंगे। सलेमपुर विधानसभा क्षेत्र में 3,42,797 मतदाता हैं यहां 216 मतदान केंद्रों के सापेक्ष 349 मतदेय स्थल होंगे। इसी प्रकार बरहज विधानसभा क्षेत्र में 317021 मतदाता वर्तमान समय में है जिनके लिए 243 मतदान केंद्रों पर 349 बूथ बनाया जाना प्रस्तावित है।

मतदेय स्थलों का संभाजन करते समय मतदाताओं की सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा गया है। मतदाताओं को अधिकतम 2 किमी की दूरी के भीतर मतदान केंद्र उपलब्ध कराने के मानक का ध्यान रखा गया है। अत्यधिक पुराने व जर्जर भवन वाले मतदेय स्थलों को इसमें शामिल नहीं किया गया है। यदि भौतिक सत्यापन में किसी मतदेय स्थल के संबंधित विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के बाहर स्थित होने का मामला प्रकाश में आता है तो ऐसे पोलिंग स्टेशन को परिवर्तित कर विधानसभा क्षेत्र के अंदर ही स्थापित किया जाएगा। दिव्यांगजनों और अशक्त मतदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्येक मतदान स्थल पर रैंप की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि राजनीतिक दलों को मतदान स्थलों एवं मतदान केंद्रों के संबंध में किसी भी तरह की आपत्ति हो तो वैसे दर्ज करा सकते हैं। आगामी 2 सितंबर को जनप्रतिनिधियों एवं मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ बैठक कर शिकायत एवं सुझावों के निस्तारण के पश्चात सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा।

बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी/एडीएम प्रशासन गौरव श्रीवास्तव, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सलेमपुर गुंजन द्विवेदी, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, एसडीएम भाटपाररानी संजीव उपाध्याय, एसडीएम बरहज गजेंद्र कुमार, एसडीएम रुद्रपुर ध्रुव कुमार शुक्ला, एएसडीएम महेंद्र कुमार, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी मंजूर अहमद, एएसडीएम अरुण कुमार, मीडिया प्रभारी भाजपा अंबिकेश पांडेय,जिला सचिव सपा अशोक कुमार यादव, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से जयदीप त्रिपाठी, बसपा से अशोक कुशवाहा, उपाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी, जिला मंत्री भाकपा आनंद प्रकाश चौरसिया, एनसीपी से प्रेम शंकर मणि सहित विभिन्न लोग उपस्थित थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर