पठन-पाठन में अरुचि व शिथिलता कदापि क्षम्य नही-डीएम


देवरिया टाइम्स। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन आज सदर ब्लाक अन्तर्गत ग्राम पिडरा में मनरेगा के तहत तालाब जीर्णोद्धार कार्य एवं इसी ग्राम के जूनियर हाई स्कूल, प्राथमिक विद्यालय व आंगनवाडी केन्द्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने तालाब के सुन्दरीकरण कार्य की तकनीकी स्वीकृति प्रदान करने वाले तत्कालीन जेई बद्री कुमार एवं तकनीकी सहायक को कारण बताओं नोटिस जारी किए जाने का निर्देश दिया। उन्होने वर्तमान तकनीकी सहायक सन्तोष श्रीवास्तव को कडी फटकार लगाते हुए उन्हे आगाह किया कि कार्यो में सुधार लायें, अन्यथा सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जायेगी।


जिलाधिकारी श्री निरंजन ग्राम पिड़रा में तालाब जीर्णोद्धार/सुन्दरीकरण कार्य के निरीक्षण के दौरान तकनीकी सहायक से कार्यो का पूर्ण लेखा-जोखा की जानकारी किए। उन्होने इस तालाब का सुन्दरीकरण किये जाने के निर्देश के साथ कहा कि यह अत्यन्त ही रमणीय जगह पर है, इसका सुन्दरीकरण को बेहतर रुप दिया जाये। उन्होने तालाब के आउट/इनलेट नही पाये जाने पर भी नाराजगी जतायी तथा पशुओं के लिए रैम्प की व्यवस्था भी बनाये जाने को कहा। रोजगार सेवक सन्तोष पाण्डेय से मनरेगा के तहत जॉब कार्डधारकों एवं इस कार्य परियोजना के मास्टर रोल के संबंध में पूछताछ किये। बताया गया कि लगभग 50 सक्रिय श्रमिक हैं, 19 आज कार्य पर लगे हुए है,

शेष श्रमिकों को भी रोजगार दिए जाने के लिए अन्य कार्य परियोजनाओं व लाभार्थीपरक योजनाओं में रोजगार सृजित कर उन्हे भी योजित किए जाने का निर्देश दिया। बताया गया कि इस गांव में 85 हैण्डपम्प हैं, जिसकी जल निकासी के लिए नाली की व्यवस्था है। आवास के एक लाभार्थी को 90 दिन का रोजगार मनरेगा के तहत उपलब्ध करा दिया गया है।
जिलाधिकारी ने इस मौके पर उपस्थित ग्राम खरजरवा के ग्राम प्रधान असबाद अंसारी से भी उनके वहां किए जा रहे कार्यो के संबंध जानकारी किए। उन्होने इस गांव के प्राथमिक विद्यालय का भी सुन्दरीकरण, कायाकल्प योजना से कराये जाने के निर्देश उन्हे दिए। उन्होने डीसी मनरेगा के कार्य परियोजनाओं का भी निरीक्षण किए जाने का निर्देश दिए। कहा कि जिस भी कार्य परियोजना पर मनरेगा के तहत कार्य चल रहे हो, उसे पूरी गुणवत्ता के साथ सुनिश्चित कराया जाये और अधिक से अधिक जॉब कार्डधारकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये। इस दौरान उन्होने एक किशोर प्रिन्स प्रजापति से बातचीत कर उसकी दिनचर्या की जानकारी किए तथा कहा कि कड़ी मेहनत से पढ़ाई करें तभी भविष्य उज्जवल होगा।
खण्ड विकास अधिकारी/जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त ने बताया कि इस पोखरे के सुन्दरीकरण कार्य के तहत सीमेन्ट का बनाया हुआ ब्रेंच, तालाब के बंधे पर वृक्षारोपण, सीढ़ियां आदि बनवाया जायेगा तथा इसे जीर्णोद्धार के साथ साथ सुन्दरीकरण कर भव्यतम रुप दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने प्रस्तावित इन कार्यो की सराहना की तथा ऐसे ही सभी तालाबों के सुन्दरीकरण हेतु अपनाये जाने को कहा।


इसके उपरान्त जिलाधिकारी इसी ग्राम पंचायत के बेसिक विद्यालय का भी औचक निरीक्षण किया। कक्षा 6 में उपस्थित छात्रों दिव्या यादव, आंचल मद्देशिया, कृष्णा कुशवाहा, रागनी चौहान, शिवानन्द प्रजापति आदि का कक्षा 5 के रिपोर्ट कार्ड को मंगवाकर देखा तथा बच्चो से कहा कि जिन विषयों में उनकी ग्रेडिंग अच्छी नही है, उनमें भी कडी मेहनत कर उसमें सुधार लायें। प्रधानाचार्य विद्या राय ने बताया कि पिछले सत्र में 222 बच्चें रहे है तथा 11 अध्यापक तैनात है। इस दौरान उन्होने आंगनवाडी केन्द्र का भी निरीक्षण किया, जहां बच्चें उपस्थित रहे एवं उनके पठनपाठन का कार्य चल रहा था। जिलाधिकारी ने सभी अध्यापकों को पठन पाठन कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही बरतने का निर्देश दिया। विद्यालय के निकट की नाली में साफ सफाई सन्तोषजनक नही पाये जाने पर उन्होने ग्राम प्रधान से कहा कि साफ सफाई ऐसे सार्वजनिक जगहों पर प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित होना चाहिये। इस दौरान रसोईयों द्वारा मानदेय अप्राप्त होने की जानकारी दी गयी, जिस पर उन्होने त्वरित रुप से कार्यवाही कराये जाने का अश्वासन दिया।
निरीक्षण के समय जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, डीसी मनरेगा बीएस राय, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि वीरेन्द्र सिंह, एडीओ पंचायत चन्द्रभूषण तिवारी, अध्यापिका सुमन बाला सहित अन्य अध्यापक गण आदि उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर