देवरिया :11वीं की छात्रा अपराजिता बनीं जीआईसी की कार्यकारी प्रधानाचार्य

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स


अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राजकीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य श्री प्रदीप कुमार शर्मा ने 11वीं की छात्रा अपराजिता जायसवाल को आज के लिए ‘प्रधानाचार्य’ बनाकर महिला शक्ति को सम्मान दिया। आज की कार्यकारी प्रधानाचार्य ने परीक्षा कक्षों का निरीक्षण किया और प्री-बोर्ड परीक्षा के परीक्षार्थियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। समस्त शिक्षकों और शिक्षणेतर कर्मचारियों ने उनका अभिनन्दन करते हुए आज के लिए उनके निर्देशन में कार्य करने हेतु प्रतिबद्धता व्यक्त की।
इस अवसर पर ‘चौपाल’ का आयोजन भी किया गया। शिक्षक श्री असीम कुमार चौधरी, गोविंद सिंह, सत्यप्रकाश श्रीवास्तव और विद्यार्थी चंद्रमणि चौहान, रवि प्रकाश सिंह, सुहानी गुप्ता, अंशु चौबे आदि ने महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं की शक्ति और उनके सम्मान में अपने उद्गार व्यक्त किये।

योगेन्द्र नाथ मिश्र ने स्वरचित हास्य कविता सुनायी। उन्होंने विद्यार्थियों को बताया कि एक महिला हर रोज पुरुष का कार्य करती है, किन्तु पुरुष एक दिन के लिए भी महिला का उत्तरदायित्व नहीं निभा सकता। विद्यालय की शिक्षिका शालिनी मौर्य ने कार्यकारी प्रधानाचार्य का माल्यार्पण कर उनका सम्मान किया। प्रधानाचार्य श्री प्रदीप कुमार शर्मा और 11वीं की छात्रा श्रुति दूबे ने स्मृति चिह्न भेंटकर अभिनंदन किया। इस अवसर पर प्रधानचार्य जी ने कहा कि एक छात्रा को आज के लिए प्रधानाचार्य इसलिए बनाया गया ताकि नारी शक्ति को सम्मान मिले और लैंगिक भेदभाव को दूर किया जा सके। महिलाएँ मां, बहन, बेटी, शिष्या आदि अनेक रूपों में समाज को चलाती हैं और कठिन संघर्ष करते हुए उत्तरदायित्व निभाती हैं।
कार्यकारी प्रधानाचार्य अपराजिता जायसवाल ने कहा कि इस प्रतिष्ठित विद्यालय की प्रधानाचार्य बनने का जो गौरव मुझे मिला है, उसके लिए प्रधानाचार्य जी और विद्यालय परिवार की मैं आभारी हूँ। आज मैं इस पद के लिए चयनित हुई हूँ तो यह केवल मेरा ही सम्मान नहीं अपितु मेरी सहपाठियों और समस्त नारी शक्ति का सम्मान है।


इस अवसर पर वृक्षारोपण भी किया गया।
कार्यक्रम का संचालन इंटरमीडिएट की छात्रा सिद्धिदात्री विश्वकर्मा और श्रुति दूबे ने किया।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here