सी-विजिल एप का प्रयोग कर बने लोकतंत्र प्रहरी: डीएम


देवरिया टाइम्स। जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी श्री आशुतोष निरंजन ने गूगल मीट के माध्यम से पुनरीक्षण- 2022 के संबंध में समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सी-विजिल एप के प्रयोग को प्रोत्साहन देने के लिए जागरूकता अभियान चलाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इस एप के माध्यम से आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की सूचना देकर नागरिक ‘लोकतंत्र प्रहरी’ की भूमिका निभा सकते हैं।


जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत करने और उसे ट्रैक करने में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्मित सी-विजिल एप महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। यदि किसी नागरिक को लगता है कि कहीं पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है तो वह इस एप के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकता है।


जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि शिकायत दर्ज करने के लिए आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वाली गतिविधि की एक तस्वीर या 2 मिनट का वीडियो बनाना होगा। साथ ही गतिविधि का संक्षिप्त में वर्णन भी करना होगा। शिकायत दर्ज कराने के साथ ही कैप्चर की गई जानकारी जीआईएस प्रणाली के माध्यम से स्वतः संबंधित जिला के नियंत्रण केंद्र को भेज दी जाती है, जिससे फ्लाइंग स्क्वायड कुछ ही मिनटों में घटनास्थल पर पहुंच कर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन को रोकता है। उन्होंने बताया कि यह एप केवल लाइव फोटो/वीडियो और एप के भीतर से ऑटो लोकेशन ही कैप्चर करता है, जिससे फ्लाइंग स्क्वायड को समयबद्ध तरीके से कार्य करने के लिए डिजिटल साक्ष्य मिलना सुनिश्चित हो जाता है।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सी-विजिल एक उपभोक्ता अनुकूल एंड्राइड एप्लीकेशन है जिसे संचालित करना आसान है। इसे भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट एवं गूगल प्लेस्टोर से निःशुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने नागरिकों से सी-विजिल एप डाउनलोड करने की अपील की।
समीक्षा बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी कुँवर पंकज, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम गुँजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम ध्रुव शुक्ला, एसडीएम मंजूर अहमद अंसारी सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर