बाढ़ एवं कटानरोधी कार्यो को प्रत्येक दशा में 30 जून तक करें पूर्ण:डीएम


देवरिया टाइम्स।नवागत जिलाधिकारी जे0पी0 सिंह ने बाढ़ एवं कटानरोधी कार्यो की स्वीकृत व निर्माणाधीन सभी कार्य परियोजनाओं को प्रत्येक दशा में माह जून तक अनिवार्य रुप से गुणवत्ता के साथ उसे पूर्ण किये जाने का सख्त निर्देश दिया है। उन्होने कहा है कि बरसात के पहले सभी परियोजनायें हर हाल में पूर्ण होनी चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की कोई शिथिलता किसी भी स्तर पर न हो, यह संबंधित विभाग सुनिश्चित करें।


जिलाधिकारी श्री सिंह रुद्रपुर तहसील अन्तर्गत बाढ एवं कटानरोधी कार्यो की दो कार्य परियोजनाये यथा पिडरा करनपुर तटबंध एवं गायघाट के निकट स्वीकृत कटानरोधी कार्यो का आज औचक निरीक्षण कर उक्त आशय के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी श्री सिंह सबसे पहले पिडरा करनपुर तटबंध के किमी0 2.740 से 3.190 ग्राम सिलहटा में 450 मीटर लम्बाई लागत 10.90 करोड की कंक्रीट जियो मैट्रेस तकनीक की पायलट परियोजना का निरीक्षण किए तथा उपस्थित ग्राम वासियो से संवाद कर कार्यो की हकीकत का फीडबैक लिया। ग्रामवासियो द्वारा कार्यो पर सन्तोष जताया गया। कहा गया कि यह कार्य परियोजना कटान रोकने में काफी उपयोगी होगा और अब इससे राहत मिलेगा। जिलाधिकारी इस कार्य परियोजना के आगे संवदेनशील बिन्दु का भी निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए। अधिशासी अभियंता बाढ़ एन के जाडिया द्वारा बताया गया कि बोल्डर आदि गिरा कर कटान रोकने के लिए स्पर तैयार किए गए है। जिलाधिकारी ने लोगो से फीडबैक लेने के उपरान्त तटबंध के टाप की फिनिसिंग किए जाने के निर्देश दिए। बताया गया कि द्वाबा क्षेत्र के 52 गांव तथा इसके बाहर के 64 गांव इस बंधे से सुरक्षित होगें।


जिलाधिकारी श्री सिंह इसके उपरान्त इस वर्ष की स्वीकृत गायघाट तटबंध के कटानरोधी कार्य स्थल का निरीक्षण किए। यह कार्य परियोजना 300 मीटर की लम्बाई में 12.34 करोड़ की लागत की स्वीकृत है। अधिशासी अभियंता बाढ द्वारा बताया गया कि बेसिक कार्य शुरु कर दी गयी है। अगले 10-15 दिनो में काफी कार्य देखने को मिलेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि कार्यो को तेजी से कराया जाये। हर हाल में सभी कार्य परियोजना बरसात के पूर्व सुनिश्चित कर ली जाये। उन्होने कहा कि माह मई के प्रथम सप्ताह में पुनः निरीक्षण किया जायेगा और कार्य प्रगति उस समय अनिवार्य रुप से दिखनी चाहिये। बताया गया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में 15 कार्य परियोजनाये लगभग 74 करोड़ की स्वीकृत हुई है तथा गत वर्ष की स्वीकृत 10 कार्य परियोजनाओं में 9 कार्यो को पूरा कर लिया गया है, एक अपूर्ण कार्य को भी माह जून तक पूरा कर लिया जायेगा। जिलाधिकारी ने इन सभी कार्यो को समयबद्धता के साथ पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया, ताकि आमजन को बाढ़ की समस्या से निजात मिल सके। बताया गया कि जनपद में कुल 40 बंधें है, जिसकी लम्बाई 241 किलोमीटर है।


अधिशासी अभियंता बाढ़ श्री जाडिया द्वारा बताया गया कि कंक्रीट जियो मैट्रेस तकनीक की पायलट परियोजना पाण्डेय माझा जोगिया तटबंध के किमी0 0.900 से 1.150 ग्राम पाण्डेय माझा व किमी 3.00 से 3.200 ग्राम शीतल माझा के मध्य 440 मीटर के लम्बाई के लागत 1224.09 लाख व पिडरा करनपुर तटबंध के किमी0 2.740 से 3.190 ग्राम सिलहटा में 450 मीटर की लम्बाई के लागत 1090.34 लाख की परियोजनाये स्वीकृत रही है, जिस पर कार्य लगभग पूर्ण कर लिया गया है। वर्तमान वर्ष के स्वीकृत सभी कार्यो को भी माह जून तक पूर्ण किया जायेगा।
जिलाधिकारी के इस निरीक्षण के समय उप जिलाधिकारी रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, सहायक अभियंता अशोक द्विवेदी, अपर अभियंता कृष्ण प्रकाश सहित क्षेत्रीय जन, ग्राम प्रधान सिलहटा व अन्य जुडे व्यक्ति मौजूद रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर