देवरिया में सीएम योगी का ऐलान,सभी जिलो में होगा मेडिकल कॉलेज


देवरिया टाइम्स

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश के सभी जिलो में अपना मेडिकल कॉलेज होगा। पिछले साढ़े चार साल में प्रदेश में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना व राज्य सरकार के सहयोग से कुल 17 मेडिकल कॉलेज बन चुके हैं। इसमें से आठ में पिछले सत्र से पढ़ाई शुरू हो चुकी है। प्रधानमंत्री 30 जुलाई को सिद्धार्थनगर से नौ मेडिकल कॉलेजों की सौगात देंगे। इन सभी मेडिकल कॉलेजों में इसी सत्र से एमबीबीएस की पढ़ाई शुरू होगी।

मुख्यमंत्री शनिवार को देवरिया में महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करने के पश्चात पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1947 से 2016 तक उत्तर प्रदेश में कुल 12 मेडिकल कॉलेज बने थे। केंद्र के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने की दिशा में तेजी से काम हुए। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना और प्रदेश सरकार के प्रयास से 2016 से 2020 के बीच 32 मेडिकल कॉलेजों को बनाने की स्वीकृति मिली है। इसमें आठ मेडिकल कॉलेज चालू हो गए हैं। ये कोरोना काल में मरीजों की इलाज में अहम भूमिका अदा किए। नेशनल मेडिकल काउंसिल की निरीक्षण के बाद 9 मेडिकल कॉलेजों में प्रथम सत्र की पढ़ाई इसी सत्र से शुरू हो जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2021-22 में 14 मेडिकल कॉलेज बनाने को स्वीकृति दिया जा चुका है। यहां भी लगभग काम शुरू हो चुका है अथवा शुरू होने वाला है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 16 जिले ऐसे हैं जहां मेडिकल कॉलेज नही है। इन जिलों में पीपी मॉडल पर छह माह के अंदर मेडिकल कॉलेज बनाने का काम शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में यह उपलब्धि केंद्र और प्रदेश में समान विचारधारा की सरकार के चलते संभव हो सका है।

अक्टूबर में एम्स का लोकार्पण करेंगे प्रधानमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर और राय बरेली में एम्स बनकर तैयार है। अक्टूबर में गोरखपुर एम्स का प्रधानमंत्री लोकार्पण करेंगे। इसके चालू हो जाने से लोगों को यहां पर विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिलेगा।

प्रदेश में काबू मे है कोरोना के हालात

योगी ने कहा कि कोरोना की महामारी से जहां विकसित देश व कई राज्य अब भी जूझ रहे हैं वहीं सबसे बड़ी आबादी वाला प्रदेश होने के बावजूद उत्तर प्रदेश में हालात काबू में हैं। यह सब हेल्थ वर्करों, अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की सक्रियता और संवेदनशीलता के चलते संभव हो सका।

सभी संसाधनों से युक्त होगा देवरिया का मेडिकल कॉलेज

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निर्माणाधीन मेडिकल कालेज इस साल 15 दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। डाक्टरों के लिए आवास व छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास बनकर तैयार हो गया है। मेडिकल कालेज के 29 फैकल्टी में 73 डाक्टरों, प्रोफेसर की नियुक्तियां हो चुकी हैं।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज को सभी तरह से संसाधन संपन्न बनाए जाने की बात कही। उन्होंने इस बात पर जोर देकर कहा कि मेडिकल कालेज को सभी संसाधनों से युक्त किया जायेगा। जिससे सामान्य के अलावा गंभीर मरीजों का इलाज हो सके। मरीजों की बीमारी का सटीक पता लगाने को विभिन्न तरह के जांच के लिए आधुनिक लैब बनाया जायेगा। ऐसे में लोगों को इस मेडिकल कॉलेज से काफी उम्मीदे हैं।

जिले में शाम ढलने के बाद अधिकांश प्राईवेट अस्पताल बंद हो जाते हैं। ऐसे में गंभीर मरीजों को गोरखपुर मेडिकल कालेज ले जाने के अलावा कोई चारा नहीं होता है। इससे कई बार समय से इलाज की सुविधा नहीं मिलने से मरीजों की जान भी चली जाती हैं। जिला अस्पताल से गोरखपुर रेफर करने पर अस्पतालों के दलाल भी मोटा कमीशन के चक्कर में मरीजों को प्राईवेट अस्पताल में पहुंचा देते हैं। इसका खामियाज मरीजों और उनके परिजनों को भुगतना पड़ता है। लेकिन मेडिकल कालेज खुल जाने के बाद इस पर अंकुश लगेगा तथा गंभीर मरीजों, दुर्घटना व मारपीट में घायलों को समय से इलाज की सुविधा मिलेगी। मेडिकल कालेज में अलग-अलग विभाग बनाये जायेंगे, जहां पर आधुनिक तरीके से जांच व इलाज की किया जायेगा। इससे अधिकाधिक मरीजों की जान को बचाया जा सकता है। शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 15 दिसंबर-21 तक मेडिकल कालेज बनकर तैयार हो जायेगा। नेशनल मेडिकल काउंसिल के निरीक्षण और मान्यता के बाद एमबीबीएस की पढ़ाई शुरू हो जाएगी।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर