नवनियुक्त शिक्षकों से सीएम बोले, प्राथमिक विद्यालय के बच्‍चों को पढ़ाने लगें तो बेसिक शिक्षा का कायाकल्‍प हो जाएगा

विज्ञापन

लखनऊ

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बेसिक शिक्षा परिषद में 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती के दूसरे चरण में 36590 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए। इस दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने अलग-अलग जिलों में नवनियुक्ति शिक्षकों से संवाद किया और उन्हें नियुक्ति पत्र प्राप्त करने की बधाई दी।

सीएम योगी ने शिक्षकों से उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा तो शिक्षक उन्‍हें एमएससी, एमएड, बीएससी, बीटीसी आदि पाठ्यक्रमों की अपनी पढ़ाई के बारे में बताने लगे। इस पर सीएम योगी ने उन्‍हें बधाई देते हुए कहा कि जैसे आपके माता-पिता ने आपको मेहनत से पढ़ाया वैसे ही आप भी प्राथमिक विद्यालय के बच्‍चों को पढ़ाने लगें तो बेसिक शिक्षा का कायाकल्‍प हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि बेसिक शिक्षा के शिक्षकों की भूमिका अत्‍यंत महत्वपूर्ण है।  

ये देश के भविष्य की नींव मजबूत करते हैं। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही प्रदेश में 69 हजार सहायक शिक्षकों के भर्ती की प्रक्रिया पूरी हो गई है। सीएम योगी ने कहा कि यूपी सरकार ने बिना किसी सिफारिश और भेदभाव के नियुक्ति प्रक्रिया आरम्‍भ की है। पहले ऐसा नहीं होता था। बेसिक शिक्षा में शिक्षक होना सौभाग्‍य की बात है। मां-बाप के बाद सबसे बड़ी भूमिका बेसिक शिक्षकों की होती है। आप जिस रूप में बच्‍चों को ढालना चाहें, बच्‍चे उसी रूप में ढल जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में पारदर्शी चयन प्रक्रिया और योग्‍य शिक्षकों की भर्ती के लिए सरकार को लम्‍बी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी। अंतत: सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश की चयन प्रक्रिया को सही माना। उसे लागू किया गया। सीएम ने कहा कि ज्ञान का क्षेत्र बहुत विराट है। एक शिक्षक को हमेशा कुछ न कुछ नया सीखने के बारे में जागरूक रहना चाहिए। कूपमंडूक बनने से काम नहीं चलेगा। अपने ज्ञान के क्षेत्र को विस्‍तारित करें और पूरी तन्‍मयता से बच्‍चों को पढ़ाएं।

कल से ही ट्रांसफर के लिए तो नहीं जुट जाएंगी
कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी अपने चिर परिचित अंदाज में नवनियुक्‍त शिक्षकों से संवाद करते नज़र आए। इस दौरान नियुक्ति पत्र पा रहे शिक्षकों के साथ सीएम भी काफी प्रसन्‍न मुद्रा में दिखे। उन्‍होंने आजमगढ़ की रहने वाली गोंडा की एक नवनियुक्ति शिक्षिका से पूछा कि गोंडा में रहकर बच्‍चों को पढ़ाने में कोई समस्‍या तो नहीं है। कहीं ऐसा तो नहीं कि कल से ही ट्रांसफर की कोशिश में जुट जाएंगी। मेरी सलाह है कि अभी कम से कम दो साल तो ट्रांसफर के बारे में कोई चर्चा भी न करिएगा। अपने तैनाती स्‍थल पर बच्‍चों को अच्‍छे से पढ़ाएं। सीएम योगी ने अन्‍य जिलों के शिक्षकों से बात करते हुए भी अपने गृहजनपद से बाहर नौकरी की दिक्‍कतों के बारे में पूछा और उन्‍हें बच्‍चों को अच्‍छे ढंग से पढ़ाने के लिए प्रेरित किया। सीएम योगी से बातचीत के दौरान नवनियुक्त शिक्षकों ने उन्‍हें पूरी से अपने तैनाती स्‍थल पर बच्‍चों की पढ़ाई पर ध्‍यान देने का भरोसा दिलाया।

पति को धन्‍यवाद दे दीजिए
कार्यक्रम में बीच-बीच में खिलखिलाहटें भी सुनाई पड़ी। एक शिक्षिका ने सीएम को बताया कि उनके पति ने उन्‍हें उच्‍च शिक्षा दिलाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। इस पर सीएम बोले, अपने पति को आज धन्‍यवाद दे दीजिए। मैने देखा है कि महिलाएं अपने पति को धन्‍यवाद कम देती हैं। इस पर वहां मौजूद सभी लोग खिलखिलाकर हंस पड़े। कार्यक्रम में बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने नई नियुक्तियों और विभाग की प्रगति के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी। ​​​​​​​कार्यक्रम में बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने नई नियुक्तियों और विभाग की प्रगति के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी। 

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here