देवरिया में भाजपा विधायक की पत्नी एवं भतीजा चुनाव हारे

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

उत्तर प्रदेश के देवरिया में सलेमपुर से भाजपा विधायक काली प्रसाद की पत्नी और भतीजा बीडीसी का चुनाव हार गए। पत्नी भागलपुर के इसारु और भतीजा धरमेर से दावेदार थे। ऐसा कयास लगाया जा रहा था कि भागलपुर की आरक्षित सीट पर घर के किसी सदस्य को चुनाव लड़ाने के लिए विधायक ने दोनों को मैदान में उतारा था।

पंचायत चुनाव में अबकीबार भागलपुर ब्लाक प्रमुख की सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। सलेमपुर के भाजपा के विधायक काली प्रसाद का गांव इसी ब्लाक क्षेत्र के जिरासो ग्राम पंचायत में है। माना जा रहा है कि वह ब्लॉक प्रमुख की सीट पर अपने परिवार के सदस्य को बैठाने का सपना संजोए हुए थे। उन्होंने अपनी पत्नी स्वर्णलता देवी को इसारु और भतीजे हेमंत कुमार को धरमेर से बीडीसी का चुनाव लड़ाया था। दोनों सीटों पर पराजय का मुंह देखना पड़ा। उनकी पत्नी वाले सीट पर कुल पांच प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। यहां से देवेन्द्र कुमार 250 वोट पाकर जीत गए।

अनिल कुमार को 208 वोट, मुन्ना को 158 वोट, छेदी को 131 वोट जबकि विधायक की पत्नी स्वर्णलता देवी को मात्र 103 वोट मिला। इस तरह वह पांचवें स्थान पर रहीं। इसी तरह धरमेर गांव में विधायक के भतीजा चौथे स्थान पर रहे। इस सीट पर आशुतोष मणि त्रिपाठी, अजित प्रसाद, प्रेम प्रकाश गुप्ता, हंसनाथ कुशवाहा और उनके भतीजा हेमंत कुमार भोला मैदान में थे । सात प्रत्याशियों में आशुतोष मणि त्रिपाठी 311 वोट पाकर जीत गए।

विज्ञापन

Multiple Slideshows

विज्ञापन:

विज्ञापन:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here