खरीफ फसल में प्रतियोगिता हेतु 31 जुलाई तक करें आवेदन


देवरिया टाइम्स

उप कृषि निदेशक डा ए के मिश्र ने बताया है कि कृषि क्षेत्र में उत्पादन एवं उत्पादकता के उत्तरोत्तर वृद्धि में गति प्रदान करना समय की आवश्यकता है। जनपद के कृषकों में उत्पादन एवं उत्पादकता में अधिकतम वृद्धि करने हेतु स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना की अहम भूमिका होती है।

पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष 2021-22 में खरीफ फसल में कृषक निर्धारित तकनीको का ध्यान रखते हुए खेती करके अधिक से अधिक उत्पादन प्राप्त करें। गुणवत्ता / प्रमाणित बीजो का प्रयोग करें। जैविक उर्वरक का प्रयोग करें। समय से खरीफ फसलों की रोपाई लाइन में करें। खरीफ बीजों में बीज शोधन एवं भूमि शोधन अवश्य करें। मृदा परीक्षण के आधार पर रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग करें। खर पतवार / कीट एवं व्ययाधि रोगों का नियंत्रण समय से करें। फसल बीमा कराने वाले कृषकों को वरीयता प्रदान की जायेगी। किसान सम्मान दिवस हेतु 25 प्रतिशत अनुसूचित जाति / जनजाति का रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है। लघु एवं सीमान्त तथा महिला कृषकों का अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन करायें। उपरोक्त को ध्यान में रख कर खेती करने वाले कृषक किसान सम्मान योजनान्तर्गत खरीफ फसल में प्रतियोगिता हेतु आवेदन पत्र के साथ रजिस्ट्रेशन शुल्क 10/-रू० जमा कर 31 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन उप कृषि निदेशक, के यहाँ अवश्य करा लें, तदुपरान्त अधिक से अधिक उत्पादन प्राप्त करते है तो उन्हें प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी माननीय पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्म दिवस पर अधिकारिक तौर पर सक्षम कर्मचारी / अधिकारी के समक्ष क्राप कटिंग कराकर परिणाम बन्द लिफाफॅ (गोपनीय) में जिला स्तर पर उप कृषि निदेशक कार्यालय में ससमय जमा किया जायेगा। परिणाम में सर्वोच्च उत्पादन प्राप्त करने वाले दो कृषक को प्रथम एवं द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया जायेगा।


उप कृषि निदेशक ने जनपद के समस्त कृषकों से अपेक्षा की है कि वे उपरोक्त का ध्यान रखते हुए अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन करावे एवं उत्पादन प्राप्त करके पुरस्कार का लाभ उठायें।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर