आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये 505 करोड 15 लाख का परिव्यय जिला योजना समिति की बैठक में अनुमोदित

विज्ञापन
savitri
Caption Two
3 / 3
maneesh

देवरिया टाइम्स

जनपद के समग्र व सर्वाग्रीण विकास के लिये आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये 505 करोड 15 लाख का परिव्यय आज विकास भवन के गांधी सभागार में आयोजित प्रभारी मंत्री/कृषि विपणन व उद्यान राज्यमंत्री श्रीराम चौहान की अध्यक्षता में जिला योजना समिति की बैठक में अनुमोदित की गयी।
प्रभारी मंत्री श्री चौहान के कहा कि जनपद के विकास के लिये अनुमोदित परिव्यय को अन्तिम रुप दिये जाने में सभी अधिकारी अपनी भूमिका का निर्वहन करेगें। जनप्रतिनिधियों द्वारा जो भी सुझाव दिये गये है, उसका भी प्राथमिकता से पालन करेगें। उन्होने यह भी कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा जो भी समस्याये या डिमाण्ड किये जाये उसमें की गयी कार्यवाहियों से उन्हे भी अवगत करायेगें, तो उससे उन समस्याओ के समाधान में शासन स्तर पर पहल किये जाने में भी जनप्रतिनिधि अपनी भागीदारी को निभा सकेगें। उन्होने अनुमोदित परिव्यय के अनुमोदन में सभी के प्रति सहयोग किये लिये धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि अनुमोदित परिव्यय जिले के विकास के लिये काफी अहम साबित होगा। अधिकारी इसे विकास कार्यो में लगाये जाने के लिये अपने निष्ठा को दर्शित करते हुए क्रियान्वित करेगें तो परिणाम बेहतर होगा। उन्होने पुराने अनुमोदन के अवशेष धनराशियों को भी तीव्र गति से व्यय करने व लक्ष्यपूर्ति शतप्रतिशत किये जाने को कहा।


जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने ए आर कोआपरेटिव को सहकारी गोदामो की सूची उपलब्ध कराये जाने का निर्देश देते हुए कहा कि उसका सत्यापन कराया जायेगा। यदि जमीन नवइयत बदले जाने की आवश्यकता होगा तो उसे कराया जायेगा। नेडा विभाग को सोलर लाइट लगाये जाने के लिये जनप्रतिनिधियों से भी सूची/प्रस्ताव लिये जाने का निर्देश परियोजना अधिकारी नेडा को दिया। उन्होने विधायक बरहज सुरेश तिवारी द्वारा सफाई कर्मियों के गांवो में न रहने, सफाई कार्य आदि नही किये जाने बात लाये जाने पर जिला पंचायत राज अधिकारी को जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सफाई कर्मियो को फोटोयुक्त पहचान पत्र निर्गत करें और वे गले में इसे लगाये, इसका कडाई से पालन सुनिश्चित करायें। जिलाधिकारी ने पेय जल की टंकियो से पेयजल की आपूर्ति सुचारु रुप से नही होने की समस्या सलेमपुर सांसद प्रतिनिधि जयनाथ कुशवाहा द्वारा लाये जाने पर उन्होने अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देश दिया कि जनप्रतिनिधियों को पेय जल आदि की लिखित सूचना उपलब्ध कराये और इस संबंध में क्या कार्यवाही हुई, इससे भी अवगत कराये।


जिलाधिकारी ने सभी विभागो को अनुमोदिन परिव्यय को अपने विभागाध्यक्षों से पहल कर रिलिज कराये जाने का निर्देश दिया। कहा कि मेरे स्तर से भी पहल की आवश्यकता हो तो शासन स्तर पर मेरे द्वारा भी पत्र व्यवहार संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करायें।
सलेमपुर विधायक काली प्रसाद ने भागलपुर व लार ब्लाक में जल स्तर काफी नीचे होने के समस्या के दृष्टिगत तकनीकी बोरिंग कराये जाने की मांग की। जयनाथ कुशवाहा द्वारा केवल 10 नलकूप का प्रस्ताव कम बताया, जिस पर मंत्री जी ने इसे और बढाये जाने का निर्देश अधिशासी अभियंता नलकूप को दिया। विधायक सुरेश तिवारी द्वारा निर्माण कार्यो के साइटो पर संबंधित जेई के नही नहने से गुणवत्ता कार्य प्रभावित होने की बात कहा, जिस पर मंत्री जी द्वारा अधिशासी अभियंता पी डब्लूडी को निर्देश दिया गया कि वे इसका प्रभावी अनुश्रवण करें।


बैठक में सदर विधायक सत्यप्रकाश मणि सहित अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा राजकीय कस्तूरबा विद्यालय के भवन को पुराना व जर्जर बताये जाने के साथ ही नये भवन की आवश्यकता बतायी गयी जिस पर नये भवन के लिये प्रस्ताव सम्मिलित किये जाने हेतु कहा गया।
अनुमोदित परिव्यय में कृषि विभाग की 16 लाख, गन्ना 8.37, लघु सीमान्त कृषको को सहायता 1290, पशुपालन 546.90, दुग्ध विकास 134.60, वन विभाग 936.17, सहकारिता 200, ग्राम विकास के विशेष कार्यक्रम के तहत 2250, रोजगार कार्यक्रम 7917.61, पंचायतीराज 588.72, सामुदायिक विकास 100, निजी लघु सिचाईं 42.50, राजकीय लघु सिचाईं 412, अतिरिक्त ऊर्जा स्त्रोत 177.50, खादी एवं ग्रामोद्योग 21.66, सडक एवं पुल 3290, पर्यावरण 3-00, पर्यटन 400, प्राथमिक शिक्षा 7782.27, माध्यमिक शिक्षा 312.51, प्राविधिक शिक्षा 250, प्रादेशिक विकास दल 80.15 लाख की जिला योजना अनुमोदित हुई।


स्वास्थ्य विभाग के तहत एलोपैथिक 1318.78, परिवार कल्याण 4950, होमियोपैथिक 57.50, आयुर्वेद 24, यूनानी चिकित्सा 230.32 लाख का परिव्यव की सहमित दी गयी। ग्रामीण स्वच्छता के तहत 2664, ग्रामीण आवास 6060, नगरीय पेयजल 234.45, अनुसूचित जाति का कल्याण 885.07, अनुसूचित जनजाति का कल्याण 53.15, पिछडी जाति का कल्याण 670.29, अल्पसंख्यक कल्याण 125.93, समाज कल्याण सामान्य जाति अन्तर्गत 1095.25 लाख का परिव्यय अनुमोदित किया जाना शामिल है। इसी प्रकार शिल्पकार प्रशिक्षण हेतु 210 लाख, समाज कल्याण 1198, दिव्यांग कल्याण 1174.8, महिला कल्याण 2800 लाख का परिव्यय अनुमोदित किया गया। इस प्रकार जनपद के सर्वाग्रीण व आधारभुत आवश्यकताओं के लिये कुल 50515-00 लाख का परिव्यय आगामी वर्ष 2021-22 हेतु आज की बैठक में समिति द्वारा पारित की गयी।
मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जीएन ने प्रभारी मंत्री श्री चैहान सहित समिति के सभी सदस्यों के प्रति आभार ज्ञापित किया तथा समिति को आशवस्त किया कि जनपद के विकास के लिये जिला योजना को समग्र रुप दिया जायेगा। उन्होने अधिकारियों को जन प्रतिनिधियों द्वारा लाये गये समस्याओं का भी निराकरण भी समयबद्धता के साथ किये जाने को कहा। अन्त में सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।
बैठक में पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र, सी0एम0ओ0 डा0 आलोक कुमार पाण्डेय, रामपुर कारखाना विधायक प्रतिनिधि संजीव शुक्ल, अंगद तिवारी, राजू मणि, भूपेन्द्र सिंह, सदर सांसद प्रतिनिधि/पूर्व विधायक रविन्द्र प्रताप मल्ल, पथरदेवा ब्लाक प्रमुख सुब्रत शाही, व अन्य जिला योजना समिति के सदस्य गण, परियोजना निदेशक महेश नारायण पाण्डेय, जिला अर्थ संख्याधिकारी मनोज श्रीवास्तव सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी गण, यांत्रिक विभागो के अभियंता गण आदि मौजूद रहे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here