राष्ट्र के गौरवशाली इतिहास को जानने शुभ अवसर है अमृत महोत्सव



देवरिया टाइम्स।
अपने गौरवशाली इतिहास और संपूर्ण जनमानस में तत्कालीन परिस्थितियों विदेशी आक्रांता ओं के बर्बरता और लूटपाट और उनके विरुद्ध भारतीय सेनानियों क्रांतिकारियों एवं अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर सपूतों के अतीत को बताने के लिए अमृत महोत्सव के कार्यक्रम का शुभारंभ आज एस एस बी एल इंटर कॉलेज, देवरिया के प्रांगण में हुआ।


कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में सह प्रांत प्रचारक श्री अजय जी का उद्बोधन सभी के लिए उनके गौरवशाली इतिहास को जानने का माध्यम बना। अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि इस अमृत महोत्सव के माध्यम से हमें अपने राष्ट्र के गौरवशाली इतिहास को जानने एवं अपने अमर बलिदानी के प्रति कृतज्ञता और सम्मान को प्रकट करने का एक शुभ अवसर मिला है। अपने स्व को कायम करने के लिए मातृभूमि पर बलिदान हुए ऐसे हुतात्मा सेनानी जिन्होंने अपने प्राणों की परवाह भी नहीं की और वंदे मातरम और भारत माता की जय के साथ अपने आप को मातृभूमि पर बलिदान कर दिया ऐसे वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित करने का अवसर मिला है।
अपने उद्बोधन में अजय जी ने बताया कि दुनिया का एकमात्र ऐसा देश जो लगभग 1000 वर्षों तक स्वतंत्रता के संघर्ष करता रहा और इन सभी कठिनाइयों को खेलते हुए गर्व के साथ बाहर निकला। सत्य और तथ्य के आधार पर इतिहास की व्याख्या होनी चाहिए थी परंतु यह नहीं हुआ। संघर्ष के काल में निरंतर भारतीय जनमानस द्वारा प्रतिकार होता रहा लेकिन इस काल को भी कुछ लोगों तक ही सीमित कर दिया गया। क्या कारण था कि 1857 के संगठित स्वतंत्रता संग्राम को सैनिक विद्रोह कहां गया? क्या कारण था कि वास्कोडिगामा के आगमन 1498 से प्रारंभ विद्रोह को 1857 से 1947 तक का बताया गया ? उन्होंने बताया कि इतिहास के सकारात्मक और नकारात्मक पक्ष दोनों ही हम सभी के सामने उपलब्ध हैं हमें उन सकारात्मक और अपने स्व बोध कराने वाले तत्वों को लेकर आगे बढ़ना है।

कार्यक्रम का प्रारंभ भारत माता के चित्र पर पुष्प और चरण और दीप प्रज्वलन के साथ प्रारंभ हुआ उसके साथ उसके पश्चात भारत माता की आरती की गई l
डॉ विवेक मिश्रा (जिला संयोजक, अमृत महोत्सव समिति, देवरिया) जी द्वारा विषय प्रवर्तन का कार्य सबके सामने प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री राज धारी जी विभाग संघचालक देवरिया ने की l
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री सूर्य प्रताप शाही जी तथा सत्यप्रकाश मणि जी रहे।
कार्यक्रम में विभाग प्रचारक श्री अजय जी, डॉ रणधीर सिंह जी (प्रान्त सह संयोजक,अमृत महोत्सव समिति), जिला संघचालक श्री मकसूदन मिश्र जी, नगर संघचालक श्री नमो नारायण मिश्र जी सह प्रांत कार्यवाह श्री वीरेंद्र जी, जिला कार्यवाह श्री दीपेंद्र जी, सह जिला कार्यवाह श्री अजय नारायण जी, श्री शिवम मिश्रा जी जिला समिति तथा सभी खंड के संयोजक व सहसंयोजक उपस्थित रहें।
यह महोत्सव 19 नवम्बर से 19 दिसंबर तक चलेगा।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर