अपात्र कृषकों से वसूली जायेगी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्राप्त धनराशि


देवरिया टाइम्स। उप कृषि निदेशक ने बताया है कि जनपद में कुल 4,71,185 किसानो को 1 से 10 किस्तों में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्राप्त किये है, जनपद में लगभग 26000 किसान अपात्र (आयकर दाता, मृतक पति-पत्नी आदि) चिन्हित किये गये है।


उप कृषि निदेशक ने कहा है कि जिन अपात्र कृषकों को जितनी भी किस्त का भुगतान प्राप्त हुआ है वे अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति के साथ प्राप्त धनराशि कार्यालय में जमा करें। किसी अपात्र किसान के द्वारा उक्त धनराशि जमा किया जा चुका है, तो बैंक द्वारा प्राप्त रसीद, आधार कार्ड एवं बैंक पासबुक कार्यालय में जमा करें। यदि अपात्र कृषकों के द्वारा एक माह के अन्दर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से प्राप्त धनराशि वापस नहीं किया जाता है, तो उनके खिलाफ आर०सी० निर्गत कराकर वसूली की कार्यवाही की जायेगी। जनपद में 11वी किस्त का लाभ ई-केवाईसी कराये गये कृषकों को ही प्राप्त होगा। जनपद में 251834 कृषकों द्वारा सहज जन सेवा केन्द्र से बायोमेट्रिक एवं स्वयं ओटीपी द्वारा ई-केवाईसी करा लिया गया। शेष कृषक 31 मई तक ई-केवाईसी अवश्य करा लें।


उप कृषि निदेशक ने बताया है कि शासन के निर्देशानुसार जनपद में कृषि विभाग, राजस्व विभाग, पंचायत विभाग के कर्मचारियों द्वारा संयुक्त रूप से ग्राम पंचायत स्तर पर सोशल आडिट किया जा रहा है, जिसमें कृषकों की पात्रता का परीक्षण किया जा रहा है, जिसमें पति-पत्नी, आयकरदाता, मृतक, भूमिहीन, जिन कृषकों द्वारा भूमि बेच दिया गया हो एवं 01 फरवरी 2019 के बाद के भूमि धारक (बरासत को छोड़कर), पेंशनर (10 हजार से अधिक), संवैधानिक पदधारक, सरकारी कर्मचारी (समूह घ को छोड़कर), पेशेवर डाक्टर/इंजीनियर अधिवक्ता/सी०ए० इत्यादि को अपात्र कर वसूली की कार्यवाही की जायेगी। सोशल आडिट में जिन कृषकों का किन्ही कारण से योजना का लाभ प्राप्त नहीं हो रहा है परन्तु प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में पंजीकृत है( गलत नाम, गलत आधार नम्बर) सुधार हेतु कृषक अपना नवीनतम आधार कार्ड, पंजीकृत बँक पासबुक, सम्बन्धित कर्मचारी को उपलब्ध करा दें, जिससे कृषक का डाटा सुधार की कार्यवाही किया जा सकें।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर