कृषि मंत्री ने की विकास कार्यों की समीक्षा,कृषि विश्वविद्यालय के लिए भूमि तलाश शीघ्र करने का दिया निर्देश


देवरिया टाइम्स।

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने आज विकास भवन स्थित सीडीओ कार्यकक्ष में जनपद में हो रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जनपद में राज्य सरकार द्वारा संचालित परियोजनाओं को शासन की मंशानुरूप उच्च गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ पूर्ण किया जाए।

कृषि मंत्री ने मुख्य राजस्व अधिकारी को कृषि विश्वविद्यालय के लिए भूमि का चयन शीघ्र करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कृषि विश्वविद्यालय से जनपद के किसानों को काफी फायदा होगा। उप निदेशक कृषि को निर्देशित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि बीज भंडारों पर बीज समय से पहुंचे और शासन द्वारा निर्धारित मूल्य पर मिले। बीज की कालाबाजारी किसी भी दशा में न होने पाये। उन्होंने सरसो के बीज के मिनी किट का वितरण किसानों में करवाने का निर्देश भी दिया।

कृषि मंत्री ने एआर कॉपरेटिव को किसानों को खाद समय से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। कहा कि खाद विक्रय केंद्रों पर किसानों की सुविधा को प्राथमिकता दिया जाए। कृषि मंत्री ने जनपद में कृषि की ढांचागत अवसंरचना के विकास पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोल्डस्टोरेज, फ्लोर मिल एवं राइस मिल सहित विभिन्न उद्योगों के विकास से किसानों की आय बढ़ेगी।

कृषि मंत्री ने धान खरीद के तैयारियों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि धान क्रय केंद्रों की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। धान क्रय केंद्रों पर किसी भी प्रकार की घटतौली न होने पाये। छोटे किसानों का धान प्राथमिकता के आधार पर खरीदा जाए। सरकार किसानों के हितों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, एडीएम वित्त एवं राजस्व नागेंद्र कुमार सिंह, सीआरओ अमृत लाल बिंद, एसडीएम सौरभ सिंह, जिला विकास अधिकारी रविशंकर राय, उप निदेशक कृषि विकेश कुमार पटेल, डीपीआरओ अविनाश कुमार सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर