आगामी पर्वो/धार्मिक कार्यक्रमों में मा0 सर्वोच्च न्यायालय के आदेश एवं शासनादेशों के अनुरुप ही कार्यवाही अनिवार्य


देवरिया टाइम्स

जिला मजिस्ट्रेट/जिलाधिकारी आशुतोष निंरजन ने बताया है कि मा० उच्चतम् न्यायालय द्वारा पारित आदेश दिनांक 19 जुलाई 2021, जिसमें राइट टू लाइफ पर विशेष बल देते हुए निर्देशित किया गया है कि जो भी धार्मिक आयोजन किये जायें, उनमें जन सामान्य के स्वास्थ्य की सुरक्षा का भी ध्यान रखा जाये।

स्वास्थ्य की सुरक्षा तथा जीवन का अधिकार मौलिक अधिकार है, अन्य सभी धर्मिक भावनाएं इससे कम महत्वपूर्ण हैं, के अनुपालन में पूर्व निर्गत शासनादेश 1054 / 2021-सीएक्स-3, दिनांक 19.06.2021 जिसके प्रस्तर-2 के बिन्दु संख्या 10 में कन्टेनमेंट जोन को छोड़कर शेष स्थानों/जोन में धर्मस्थलों के अन्दर परिसर के आकार को देखते हुए एक बार में एक स्थान पर अधिकतम् 50 श्रद्धालु इकट्ठा होने की अनुमति मारक की अनिवार्यता, दो गज की दूरी, सेनेटाइजर का उपयोग एवं कोविड-19 प्रोटोकाल के अनुसार अन्य सावधानियों के साथ प्रदान की गयी है। साथ ही प्रवेश द्वार पर कोविड हेल्पडेस्क की स्थापना किये जाने के भी निर्देश दिये गये हैं,

में प्रदेश में मनाये जाने वाले आगामी पर्वो / धार्मिक कार्यक्रमों में जन सामान्य के जीवन के अधिकार तथा स्वास्थ्य की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए शासनादेश दिनांक 19 जुलाई 2021 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिये गये निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये गये हैं।
इस परिप्रेक्ष्य में जिलाधिकारी ने कहा है कि मा० सर्वोच्च न्यायालय के आदेश दिनांक 19 जुलाई के अनुपालन में निर्गत शासनादेश दिनांक 22 जुलाई, 2021 में दिये गये निर्देशों के अनुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर