समाज में अच्छी सोच और एक अलग पहचान के साथ जीते है, पर्यावरण प्रहरी विजेंद्र राय (लवली)

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

पर्यावरण को बनाये रखने के नाम पर एक बार फिर आज 500 से ऊपर पौधे लगाए गए,ये सारे पौधे गोरखपुर विंध्यवासिनी पार्क से लिए गए है ,जिसमे निम्,कदम, गुलमोहर, अर्जुन के पौधे है ,ये सभी पौधे प्रहरी विजेंद्र राय (लवली) खुद के पैसे से खरीदते है और आज कुर्ना नाले के बाँध पर पौध लगाने में देवरिया टीएसआई रामवृक्ष यादव, विजेंद्र राय (लवली),तस्लीम मालिक, रामायण राव,देवेंद्र राय, अनुराग मिश्रा ,वेदप्रकाश तिवारी,ओमप्रकाश मणि, ऋषि तिवारी, प्रवीण शास्त्री, समेत आस-पास के लोगो ने भी पौधा लगाने में हिस्सा लिए।

ये ऐसे सख्सियत है देवरिया के जो तीन लाख से ज्यादा पौधा लगाने का आवार्ड पा चुके है और पर्यावरण को आज भी बचाने में जी-जान से लगे है,पर कोई प्रशासनिक मदत लिए बिना इतना पौधा लगाना अपने आप में देवरिया के लिए रिकॉड है, पर्यावरण के एक दिन पहले इतना पौधा लगाना समाज में एक अच्छा सन्देश देने के बराबर है,की “आवो मिल कर वृक्ष लगाए, प्रकृति का ना करे हरण पर्यावरण को बचाये”।

वही अगर हम बात करे पर्यावरण पर तो उसे उजाड़ने में हम लोगो का हाथ और प्रशासन का प्रयास है पर कब तक,कब जागेंगे हम,कब सुधरेगा सिस्टम।

मैं बतान चाहूंगा की इस साल वन विभाग सहित देवरिया के 19 विभागों को मिला कर 39 लाख 47 हजार, पौधे लगाने को मिला टारगेट, जिसमे ये विभाग है शामिल —
वन विभाग, ग्राम्य विखास विभाग, राजस्व विभाग, पंचायतीराज विभाग, औधोगिक विकास विभाग, नगर विकास विभाग, लोक निर्माण विभाग, सिचाई विभाग ,कृषि विभाग ,पशुपालन विभाग ,सहकारिता विभाग ,उद्योग विभाग ,विधुत विभाग ,माध्यमिक शिक्षा विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, पुलिस विभाग, ये सभी विभागों को मिला कर इस साल पौधों लगाने का सरकार द्वारा भार मिला है जो बरसात शुरू होते ही पौधा लगाना शुरू कर देंगी विभाग,अब देखना यह है की इस मिले आकड़ो में कितना पौधा लगा पता है विभाग।
देवरिया से- संतोष विश्वकर्मा की रिपोर्ट

देवरिया टाइम्स की खबरों का अपडेट मोबाइल पर पाने के लिए,अपने व्हाट्सएप्प से DT लिखकर 7007812095 पर भेजें,इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज देवरिया टाइम्स को लाइक करके भी हमारे साथ जुड़ सकतें है,और अपडेट पा सकतें हैं.

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here