अपने कार्य दायित्वों में न बरते किसी भी प्रकार की शिथिलता-डीएम अमित किशोर

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

जिलाधिकारी अमित किशोर ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित सभी योजनाओं को पारदर्शी तरीके से लोगो तक पहुॅचाने एवं इलाज की बेहतर सेवायें मुहैया कराने का निर्देश सभी चिकित्साधिकारियों को दिया है। उन्होने कहा है कि इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नही होगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन(एन0एच0एम) के 80 करोड के बजट प्रस्ताव पर वित्तीय अनुमोदन इस समिति की बैठक में दिया गया।
जिलाधिकारी श्री किशोर सी0एम0ओ0 कार्यालय के धनवन्तरि सभागार में राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन एवं जिला स्वास्थ्य समिति की जनपद स्तरीय मासिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होने कहा कि सभी प्रभारी चिकित्साधिकारी/चिकित्साधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग से जुडे अन्य अधिकारी व कर्मचारी गण अपने दायित्वों को सजगता से निर्वहन करें तथा लोगो को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाये उपलब्ध हो इसको विशेष रुप से ध्यान में रखते हुए कार्य करे। उन्होने कहा कि आशा स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख कडी है। उनका भुगतान प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित किया जाये तथा किसी भी प्रकार का कोई भुगतान उनका लम्बित न रहे। उन्होने हेल्थ वेलनेस सेन्टर को विकसित करने एवं सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को पी0एच0सी0/सी0एच0सी0 पर आवश्यकताओं के दृष्टिगत प्रस्ताव बनाकर कार्य कराये जाने को कहा। उन्होनेे सभी स्वास्थ्य केन्द्रो पर सी0सी0टी0वी0 कैमरा अनिवार्य रुप से लगाये जाने का निर्देश भी उन्हे दिया।


जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री मातृत्व बन्दना योजना के कोआर्डिनेटर को अपने कार्यो में सक्रियता लाये जाने के साथ ही सुधार लाये जाने की हिदायत दी। उन्होने नियमित टीकाकरण के लक्ष्य की शतप्रतिशत पूर्ति भी सुनिश्चित किये जाने को कहा। बैठक में क्षय रोग, कुष्ठ रोग, प्रधानमंत्री मातृत्व बंदना योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना, जे0एस0वाई, ई0 संजीवनी आदि की गहन समीक्षा उनके द्वारा की गयी एवं कार्यप्रगति में सुधार लाये जाने को कहा गया। नियमित टीकाकरण कार्य में सलेमपुर, भाटपारानी, भटनी, भागलपुर, भलुअनी, बैतालपुर, मझगावां, बरहज के चिकित्साधिकारियों को विशेष रुप से अपने कार्यो में प्रगति लाये जाने हेतु आगाह किया गया।
जिलाधिकारी श्री किशोर ने कोविड-19 में भी सक्रियता के साथ कार्य करने पर बल देते हुए कहा कि सेम्पूलिंग एवं टेस्टिंग की संख्या बढायें। प्रयास हो कि अधिक से अधिक लोगो का टेस्ट हो। उन्होने होम आइसोलेशन व अन्य प्राविधानो का अक्षरशः पालन कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि टेस्टिंग कार्य में उप जिलाधिकारियों, खण्ड विकास अधिकारियों, पुलिस विभाग एवं अन्य जुडे विभागो की भी भागीदारी आवश्यकतानुसार ली जायेगी।


मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आलोक पाण्डेय ने संचालित योजनाओं के प्रगतियों से अवगत कराया एवं प्रभारी चिकित्साधिकारियों को जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशो का अक्षरशः पालन किये जाने का निर्देश दिया। जिला चिकित्सालय एवं महिला चिकित्सालय के रोगी कल्याण समिति की बैठक भी की गयी तथा उनके वित्तीय प्रस्ताव पर चर्चा की गयी।
अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0डी0वी0शाही ने कहा कि जे0ई0, मलेरिया, फाइलेरिया, डेंगू बीमारी में वास्तव में स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य जुडे विभागो के अन्तर्विभागीय समन्वय से उसके नियंत्रण में काफी सफलता मिली है और उसमें कमी भी आयी है। उन्होने रुटिन टीकाकरण कार्य को प्रभावी तरीके से नियमित रुप से किये जाने को कहा तथा इसकी मानीटरिंग भी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को किये जाने को कहा। उन्होने यह भी बताया कि कोविड-19 के पाॅजिटिव प्रकरण में अब शहरी क्षेत्र में 50 मीटर एवं ग्रामीण क्षेत्र में 100 मीटर की परिधि ही कन्टेनमेन्ट जोन होगा। उन्होने प्रवासी मजदूरो के बच्चो का भी अनिवार्य रुप से टीकाकरण कराये जाने को कहा। उन्होने प्रभारी चिकित्साधिकारी बनकटा को कालाजार रोग के नियंत्रण हेतु एक कैम्प जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित कराने को कहा। इस दौरान ई- संजीवनी, आरोग्य सेतु की सुविधाओं को भी अपनाये जाने हेतु लोगो को प्रेरित करने और उसे जोडने पर बल दिया गया।
बैठक में सी0एम0एस0डा0छोटेलाल, डा0माला सिन्हा, ए0सी0एम0ओ0डा0सुरेन्द्र सिंह, डा0वी0पी0 सिंह, जिला क्षय रोग अधिकारी डा0वी0के0झा, जिला मलेरिया अधिकारी एस0पी0त्रिपाठी, डी0पी0एम0 राजेश गुप्ता, वी0के0पाण्डेय, पुनम, प्रमोद जायसवाल, प्रमोद यादव सहित विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि अरविन्द पाण्डेय, विजेन्द्र चैबे, हसन शहिम एवं प्रभारी चिकित्साधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के जुडे अन्य अधिकारी/कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे।
प्रचारित द्वारा सूचना विभाग देवरिया।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here