पत्नी के इशारे पर ही हुई थी चीनी मिल परिसर में लिपिक की हत्या

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स
शहर के बंद पड़े चीनी मिल परिसर में लोक निर्माण विभाग सिवान के लिपिक की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि उसकी पत्नी ने ही प्रेमी से कराई थी। पुलिस ने मंगलवार को लिपिक की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। एसपी डा.श्रीपति मिश्र, एएसपी शिष्पाल व एसओजी टीम ने घंटों आरोपित महिला से पूछताछ की। महिला ने पूरी कहानी उगल दी। हत्यारोपित व महिला को आमने-सामने बैठाकर भी अधिकारियों ने पूछताछ की।

बिहार के गोपालगंज जनपद के कुचायकोट थाना क्षेत्र के ग्राम अमवा विजयपुर निवासी धनंजय पांडेय लोक निर्माण विभाग सिवान में लिपिक थे। शहर के इंदिरा नगर मोहल्ले में आवास लेकर रहते थे। शुक्रवार की रात उनकी हत्या कर शव चीनी मिल परिसर में फेंक दिया गया था। घटना का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने एक दिन पूर्व मुख्य आरोपित गौरीबाजार थाना क्षेत्र के सिरजम निवासी रतन को गिरफ्तार किया। रतन के मोबाइल से मिले संदिग्ध फोटो के बाद पुलिस ने मृतक धनंजय की पत्नी पुष्पा को भी रात में हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने बताया कि उसका प्रेम संबंध एक साल से रतन से था। रतन के कहने पर ही वह मकान किराए पर ली थी। पति शराब पीकर आता और पिटाई करता था। पिटाई से तंग आ गई। रतन हमारे साथ रहने और धनंजय को रास्ते से हटाने की बात कहता था। एक दिन हमने भी हामी भर दी और उसने हत्या कर दी। पुष्पा के मोबाइल से दोनों के प्रेम संबंध के फोटो बरामद किए गए हैं। पुष्पा ने बताया कि रतन ने उसे मोबाइल व सिम कार्ड दिया था। उसी से वह बात करती थी।
यह थी योजना
इनकी योजना थी कि धनंजय की हत्या के बाद पुष्पा लोक निर्माण विभाग में नौकरी पा जाएगी। इसके बाद दोनों शादी कर साथ-साथ रहेंगे, लेकिन मोबाइल लोकेशन ने दोनों की गढ़ी कहानी का पर्दाफाश कर दिया। एसपी को धनंजय के बेटे ने बताया कि पिता के सिवान जाने पर मां रतन के साथ ही रहती थी।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here