जिम्मेदारों की लापरवाही से आज फिर एक बंदर की जान गई



देवरिया टाइम्स
बुधवार की सुबह एक बंदर पेड़ से गिर कर घायल हो गया। घायल होने के बाद ग्रमीणों प्राथमिक उपचार किया किन्तु वन विभाग की उदासीनता के कारण बंदर की शाम होते ही मृत्यु हो गयी।
मामला भटनी थाना क्षेत्र के जिगिना दीक्षित गांव की है। बुधवार की सुबह देवरिया टाइम्स को गांव के ही किसी ने सूचना दी कि एक बंदर पेड़ गिर कर घायल हो गया है। उससे चला नही जा रहा है । ग्रामीण उसका प्राथमिक उपचार कर रहे है। घटना की जानकारी क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी को देने की कोशिश की जा रही है लेकिन अधिकारी से सम्पर्क नही हो पा रहा है। मामले को संज्ञान लेते हुए देवरिया टाइम्स की टीम के द्वारा ट्वीट कर फ़ोन कर इसकी जानकारी देवरिया पुलिस, जिलाधिकारी एवं डायल 112 को दिया गया ।

मामले की गम्भीरता को देखते हुए डायल 112 की टीम ने घटना स्थल पर आ तो गयी लेकिन वन विभाग को पुलिस द्वारा भी सूचित किया गया, कुछ घंटों बाद वन विभाग से डॉक्टर भेजने के बजाय चौकीदार को भेजा गया।

तब तक बन्दर की हालत और गम्भीर होती चली गई। फिर देवरिया टाइम्स की टीम के द्वारा इसकी सूचना ट्वीट के माध्यम से डायल 112 को दी गई । तब तक बहुत देर हो गयी । क्योंकि इस सूचना पर जब भटनी थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे। तब तक थानाध्यक्ष के सामने ही बंदर की मौत हो गई।
अगर वन विभाग समय की नजाकत को देखते हुए अपने चौकीदार के बजाय डॉक्टर या किसी जानकार व्यक्ति को भेजा होता तो शायद बेजुबान की जान बच सकती थी।

ऐसी घटना देवरिया जिले में लगातार हो रही है और जिम्मेदार आँखे बंद कर के अपने ए सी रूम में बैठे है–!

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर