पुलवामा की दूसरी बरसी पर प्रभारी मंत्री ने शहीद विजय मौर्य की प्रतिमा पर अर्पित किया श्रद्धासुमन

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

पुलवामा घटना में आज ही के दिन शहीद हुए ग्राम छपिया जयदेव के लाल विजय मौर्य की शहादत दिवस पर जनपद के प्रभारी एवं उद्यान राज्यमंत्री श्री राम चौहान,जिलाधिकारी अमित किशोर एंव पुलिस अधीक्षक डॉ श्रीपति मिश्र अमर शहीद के गांव पहुंचकर उनके प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उनके शहादत को याद किया गया।

शहीद विजय मौर्य पार्क में आयोजित बरसी कार्यक्रम में लोगो को संबोधित करते प्रभारी मंत्री श्री राम चौहान।

प्रभारी मंत्री ने भरथुआ भटनी मार्ग के रेलवे फाटक से 18 सौ मीटर लम्बी सड़क लागत 1करोड़ 70 लाख से बनाए जाने की स्वीकृति प्रदान की तथा खडंजा,सीसी रोड निर्माण तथा हाईमास्ट लगाए जाने सहित कुल चार कार्य परियोजनाओं को इस गांव में कराए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया।

शहीद पार्क में बनी शहीद विजय मौर्य की प्रतिमा।


इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री श्री चौहान ने कहा कि पुलवामा की घटना एक कायराना व घृणित कृत्य थी इससे बड़ा कोई अन्य जघन्य अपराध नहीं हो सकता यह कार्य जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन द्वारा पाकिस्तान के इशारे पर किया गया था । उन्होंने कहा कि इस देश के रोम-रोम में राष्ट्रप्रेम और राष्ट्रभक्ति बसता है भारत ऐसे नेतृत्व के हाथ में है कि ऐसे किसी भी घटना का मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है। प्रधानमंत्री एंव हमारी देश की सेना ने शहीदों की तेरहवीं पूर्ण होने के पूर्व ही बदला लिया जिससे भारत की कमजोर छवि दूर हुई ।

हमारे वीर सैनिक आतंकी ठिकानो को जहां ध्वस्त किए वहीं सफलतापूर्वक वापस भी आए किसी के शरीर पर एक खरोच तक नहीं आई। आज भारत की बढ़ती ताकत से चीन भी हिला है चीन की सेनाएं सीमाओं से वापस जा रही हैं भारत अब कमजोर राष्ट्र नहीं रहा तीनों सेनाओ को सबल करने का व्यापक कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि यह धरती शहीद रामचंद्र विद्यार्थी ,सोना सोनार एवं पैना की शहीद माताओं की हैं जो देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है, उसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए विजय मौर्य ने भी अपने प्राणों की आहुति दी है इस वीर शहीद की शहादत दिवस पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हैं। तथा परिवार को इस दुख को सहने की ईश्वर से प्रार्थना करते हैं, परिवार को कोई कष्ट न हो यह देखना हम सभी लोगों का दायित्व है।


प्रभारी मंत्री ने शहीद के सम्मान एंव क्षेत्रीय जनों के डिमांड पर एक कार्य परियोजना की स्वीकृति जहा दी वहीं शहीद विजय मौर्य के घर से 2 सौ मीटर खड़ंजा व सीसी रोड का निर्माण,उनके घर से ही राम अवतार मौर्य के घर तक 400 मीटर सड़क निर्माण ,शहीद के पार्क में सीसी रोड का निर्माण एंव हाई मास्ट लाइट लगाए जाने की कुल 4 कार्य परिजनों का आगणन तैयार कर प्रस्तुत किए जाने को कहा । उन्होंने कहा कि इसके अलावा अन्य जो भी कार्य होंगे वह भी कराए जाएंगे, स्कूल का नाम शहीद के नाम से कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहीदों का बलिदान परिवार के लिए असहनीय व कष्टकारी होता है लेकिन वह देश समाज के लिए प्रेरणादायक होता है इससे राष्ट्रभाव भी विकसित होता है हम सभी को ऐसे बलिदानो व शहीदों के त्याग व समर्पण से प्रेरणा लेनी चाहिए ।


जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि पुलवामा में शहीद विजय कुमार मौर्य की शहादत व सम्मान में यह समारोह आयोजित किया गया है । कहा कि उनके परिवार की जो भी समस्या है उसके निराकरण के लिए हम सभी प्रयासरत हैं, स्कूल का नामकरण शहीद विजय मौर्य के नाम से किया जाएगा। शासन से जैसे ही गजट प्राप्त होगा विद्यालय का नाम उनके नाम से कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि शहीद का बलिदान हम लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत है ।
पुलिस अधीक्षक डॉ0 श्रीपति मिश्र ने कहा कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा की घटना में 40 जवान व अधिकारी शहीद हुए थे पूरा राष्ट्र स्तब्ध रह गया प्रधानमंत्री ने उसी दिन घोषणा की कि एक एक खून के कतरे का बदला लेंगे। तेरहवीं पूर्ण होने के पहले ही बदला लिया। यह धरती बहादुरों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का है । स्वतंत्रता संग्राम का बिगुल 1857 में बगल के जनपद बलिया के मंगल पांडेय द्वारा बजाया गया। ग्राम पैना की 86 महिलाएं एक साथ इस संग्राम में अपना जौहर व्रत दिया एवं शहीद रामचंद्र विद्यार्थी व सोना सोनार की शहादत भी इस जनपद से है।उन्होंने कहा कि इस माटी में समर्पण की भावना एक एक व्यक्ति के अंदर कूट-कूट कर भरा है । उन्होंने कहा कि हम सभी को वीर शहीद विजय मौर्य की शहादत से प्रेरणा लेनी चाहिए ,जब जब देश को हमारी शहादत की जरूरत हो उसमें हम लोग पीछे ना रहे।


जयनाथ कुशवाहा उर्फ गुड्डन ने शहीद विजय मौर्य के बलिदान को याद किया । कहा कि उनकी शहादत व त्याग इस क्षेत्र के लिए गौरव है वह देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दिए यह हम सबके लिए प्रेरणादाई है ।
इस अवसर पर सुनील स्नेही द्वारा राष्ट्रीय गीत आदि प्रस्तुत किया गया, संचालन रामअवतार कुशवाहा द्वारा किया गया।
शहादत सम्मान कार्यक्रम में शहीद के पिता रामायण मौर्य, शहीद के भाई अशोक मौर्य , शहीद की धर्म पत्नी विजयलक्ष्मी, जिला पंचायत सदस्य रवि प्रताप कुशवाहा, अमित सिंह बबलू ,उप जिलाधिकारी सलेमपुर ओम प्रकाश , तहसीलदार रामाश्रय, खंड विकास अधिकारी भटनी अशोक पांडेय,क्षेत्राधिकारी सलेमपुर सहित क्षेत्रवासी ग्रामवासी प्रबुद्ध जन आदि उपस्थित रहे ।

विज्ञापन

Multiple Slideshows

विज्ञापन:

विज्ञापन:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here