भटनी: पंखे से लटका मिला विवाहिता का शव

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

भटनी थाना क्षेत्र के छपिया जयदेव गांव में 30 वर्षीय विवाहिता का शव मंगलवार की शाम को पंखे से लटका मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस पंखे से शव को उतारकर परिवारीजनों से पूछताछ कर रही है। वहीं, घटना के बाद से घर वालों का रो-रोकर बुरा हाल है।
भटनी के छपिया जयदेव गांव के भास्कर मौर्य दिल्ली में नौकरी करते हैं। जबकि उनकी पत्नी रेखा मौर्य (30) अन्य परिवारीजनों के साथ ससुराल में रहती थीं। मंगलवार की शाम घरवालों ने रेखा का दरवाजा खोला तो उसका शव पंखे से लटकता हुआ देखा

। घरवालों की सूचना पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच में जुटी है। बता दें कि छपिया जयदेव गांव निवासी भास्कर मौर्य की शादी 2017 में बरहज थाना क्षेत्र के खेड़िया (करुअना) गांव की रेखा से हुई थी। रेखा की दो संतानों में कार्तिक तीन वर्ष व एक तीन महीने का मासूम है। भास्कर नवंबर में बेटे के जन्म पर घर आया था। उसके बाद जनवरी में दिल्ली कमाने चला गया। घर पर भास्कर के पिता वीरेंद्र सिंह मौर्य, मां, भाई, बहन और पत्नी बच्चों के साथ रहती थी। रेखा की मौत के बाद से परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

गांववालों की मानें तो रेखा मायके जाना चाहती थी, इसी बात को लेकर घर में विवाद हो गया था। इस बाबत सीओ भाटपाररानी पंचमलाल ने बताया कि प्रभारी एसओ श्रीप्रकाश ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जांच में गृह कलह के कारण आत्महत्या की बात सामने आ रही है। शिकायत पर कार्रवाई की जाएगी।
कार्तिक और मासूम को देखकर रो पड़े ग्रामवासी
छपिया जयदेव गांव में विवाहिता रेखा की मौत के बाद उसका तीन वर्षीय बेटा कार्तिक और तीन महीने का मासूम मां को ढूंढ रहे हैं। कार्तिक मकान के हर कमरे में जाकर मां को पुकार रहा था, जबकि तीन महीने का मासूम मां का स्पर्श पाने को बेकरार था। दोनों बच्चों की स्थिति देखकर छपिया जयदेव के लोगों के आंखों से आंसू गिरने लगे। वहीं, ससुर वीरेंद्र सिंह मौर्य, सास वसन्ती देवी, ननद अंजली और देवर सुशांत का रो-रोकर बुरा हाल है। पति भास्कर मौर्य भी पत्नी की मौत के बाद घर के लिए निकल गए हैं। इसके अलावा बरहज के खेड़िया से छपिया जयदेव पहुंचे मायके वाले भी रेखा की मौत से दुखी होकर रो रहे थे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here