भटनी: उत्तराखंड त्रासदी में लापता संतोष के घर पहुंचे डीएम और एसपी, हर संभव मदद का दिया भरोसा

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

उत्तराखण्ड के तपोवन में आयी त्रासदी में लापता पिपरा देवराज निवासी संतोष की आठ दिनों बाद भी कोई खबर नहीं लग पायी है। रविवार को संतोष के परिवारीजनों से मिलने पहुंचे डीएम तथा एसपी को देखते ही पूरा परिवार फफक-फफक कर रो पड़ा। अपने परिवार के इकलौत कमाउ सदस्य के लापता होने से पूरा परिवार सदमे में है।

उत्तराखण्ड के तपोवन में 7 फरवरी आयी त्रासदी में ओम मैटल कम्पनी में वेल्डर के पद पर कार्यरत संतोष कुमार यादव भी लापता हो गए। संतोष की पत्नी सुमन ने 8 फरवरी को पति का मोबाइल बंद आने पर इसकी जानकारी जिलाधिकारी अमित किशोर को दी। डीएम के निर्देश पर प्रशासन सुमन से पूरी जानकारी एकत्रित करने में लग गया। शनिवार को परिवार के सदस्यों के डीएनए सैम्पल भी लिया गया। रविवार की दोपहर डीएम अमित किशोर, एसपी डॉ श्रीपति मिश्र पिपरा देवराज पहुंचे।

जहां अधिकारियों को देखते ही संतोष की पत्नी सुमन, पिता हरिवंश, मां जुगुलावती दहाड़े मारकर रोने लगे। डीएम के समझाने पर पूरा परिवार शान्त हुआ। डीएम ने ढांढ़स बंधाते हुए परिवार को पूरे सहयोग का भरोसा दिलाया। उन्होंने गांव के लेखपाल को हर रोज परिवार के सम्पर्क में रहने का निर्देश भी दिया। करीब आठ दिन बाद भी अपने लाल की कोई खबर न मिलने से मां सहित पूरे परिवार का रो रो कर बुरा हाल है।

कम्पनी में मांगे संतोष के अभिलेख

तपोवन में डैम पर अपने कर्मियों की सेवा ले रहा ओम मैटल कम्पनी से संतोष के बहनोई संजय से सम्पर्क उनके आधार कार्ड सहित अन्य अभिलेख मुख्य कार्यालय दिल्ली पहुंचाने का आग्रह किया है। संजय की माने तो संतोष के आवास से उनका सामान मिला है। जिसे वह अपने साथ लेकर दिल्ली जा रहे हैं। जहां कम्पनी के कार्यालय में अभिलेख जमाकर वह दुबारा उत्तराखण्ड लौट आयेंगे।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here