डीएम ने बरहज तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस में सुनी जन समस्यायें


देवरिया टाइम्स। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बरहज तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जन समस्याओं की सुनवायी के दौरान स्पष्ट रुप से निर्देश दिया है कि सभी सन्दर्भो का निस्तारण गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ के साथ सभी अधिकारी सुनिश्चित करें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही कदापि न बरतें। फ़रियादियों की समस्याओं का निस्तारण करने के लिए डीएम ने कई प्रकरणों में क्विक रिस्पॉन्स टीम का गठन किया और आज ही उनकी समस्याओं को निस्तारित करने का निर्देश दिया।


मईल के बकुची गाँव निवासी रामबिहारी ने दफा 24 में आदेशित पैमाइश दो वर्ष से लंबित होने की शिकायत की, जिस पर डीएम ने लेखपाल को फटकार लगाई और दो दिन के भीतर आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। बैरियाराजा गाँव के लालजी यादव ने खलिहान की भूमि से कब्जा हटाने की फरियाद लगाई, जिस पर डीएम ने राजस्व एवं पुलिस विभाग की क्विक रिस्पांस टीम का गठन कर आज ही कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।


पैना ग्राम की वीणा सिंह ने अपनी पैतृक भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग की। जिसपर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी गजेंद्र सिंह के नेतृत्व में क्विक रिस्पॉन्स टीम को मौके पर भेजा। उपजिलाधिकारी ने मौके पर सभी पक्षों को सुनकर समस्या का निराकरण कर दिया।
सिसई गुलाबराय कि फूला देवी ने पंचनामा के मुताबिक रास्ता खाली कराने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया इस पर जिलाधिकारी ने डीसी मनरेगा बीसी राय के नेतृत्व में हल्का लेखपाल एवं पुलिस उप निरीक्षक की टीम का गठन कर आज ही निराकरण करने का निर्देश दिया।


ग्राम करौंदी के नागरिकों ने चकमार्ग संख्या 95 पर अतिक्रमण की शिकायत की, जिस पर डीएम ने कानूनगों एवं हल्का लेखपाल को मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लेने और नियमानुसार कार्यवाही करने का निर्देश दिया।
डीएम ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा के साथ जन फरियादों की सुनवायी करते हुए कहा कि राजस्व, विकास एवं पुलिस विभाग से जुडे सभी अधिकारी जिन प्रकरणों में संयुक्त रुप से निराकरण की आवश्यकता हो, उसमें आपसी समन्वय रखते हुए उन मामलो का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि प्रकरणों का निस्तारण गुणवत्ता के साथ होना चाहिये।
पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने पुलिस विभाग से जुडे मामलो की सुनवायी किये व पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं थानाध्यक्षो को प्राप्त सभी सन्दर्भो का निस्तारण प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया।


इस दौरान कुल 49 प्रकरण आये, जिसमें से 10 का निस्तारण मौके पर हुआ। शेष अन्य ऐसे मामले जिसमें साक्ष्य व जांच आदि की आवश्यकता पायी गयी उन अनिस्तारित प्रकरणो को संबंधित अधिकारियों को एक सप्ताह के अंदर निस्तारण के निर्देश के साथ सौंपा गया।
सम्पूर्ण समाधान दिवस में सीओ बरहज, तहसीलदार, बीएसए सन्तोष कुमार, डीएसओ विनय कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी, अनिल सोनकर, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी कमल किशोर, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय सहित विभिन्न विभागो के जनपद स्तरीय अधिकारी, कर्मचारी, खंड विकास अधिकारी, थानाध्यक्ष गण आदि उपस्थित रहे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर