जिलाधिकारी ने कुटि घाट एवं बाढ़ नियंत्रण की परियोजना का किया निरीक्षण


देवरिया टाइम्स

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने आज बरहज तहसील में घाघरा-राप्ती नदी के संगम स्थल से ग्राम क़ुर्ह परसिया तक बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य परियोजना का निरीक्षण किया। डीएम आज अपराह्न गोरा कटेलवा गांव पहुँचे। संगम स्थल से क़ुर्ह परसिया तक 58 करोड़ रुपये की लागत से 2830 मीटर लंबे बांध पर कटान रोकने के लिए स्लॉप पिचिंग और स्टेपिंग का कार्य अंतिम दौर में है। डीएम ने इस कार्य परियोजना को 15 जून की निर्धारित समय सीमा के भीतर पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मानसून के दृष्टिगत इस कार्य को समय से पूर्ण करना आवश्यक है। इसमें किसी भी तरह की कोताही न बरती जाए। इस दौरान एसडीएम गजेंद्र सिंह, अधिशासी अभियंता बाढ़ एनके जाडिया, देवेश सिंह सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

कुटि घाट एवं मोहन सेतु का किया निरीक्षण*
जिलाधिकारी ने निर्माणाधीन मोहन सेतु का निरीक्षण कर निर्माण की वस्तुस्थिति जानी। वर्तमान में 161 करोड़ रुपए की लागत वाली इस परियोजना को वर्ष 2018 में पूर्ण होना था। किंतु अभी तक निर्माण कार्यपूर्ण न होने पर डीएम ने नाराजगी जताई। उन्होंने इस परियोजना की कम्पलीट रिपोर्ट तलब की है, जिससे इसमें आ रही दिक्कतों को दूर किया जा सके और आमजन की सहूलियत के लिए इसे शीघ्र पूर्ण कराया जा सके।

इसके अतिरिक्त डीएम ने कुटि घाट पर सरयू नदी के जलस्तर में वृद्धि होने से एप्रोच मार्ग के डूबने और पीपा पुल के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिया है कि पीपा का पुल हटने के बाद नागरिकों के आवागमन के लिए पीडब्ल्यूडी अपनी नाव लगाए और किसी भी दशा में नाव पर ओवरलोडिंग न होने दें। उन्होंने क्षेत्रीय पुलिस को भी नदी पार कराने वाले नावों पर ओवरलोडिंग की निगरानी करने का निर्देश दिया। इस दौरान एसडीएम गजेंद्र सिंह सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

spot_img

Similar Articles

Advertismentspot_img

ताजा खबर