मंडलायुक्त ने किया उप निर्वाचन कार्यो के तैयारियों की समीक्षा,निर्वाचन कार्य शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष कराने के निर्देश

विज्ञापन

देवरिया टाइम्स

मण्डलायुत गोरखपुर जयंत नार्लिकर, डी0आई0जी0 राजेश मोदक के साथ जनपद भ्रमण कार्यक्रम के तहत 337-सदर विधानसभा उप निर्वाचन 2020 की तैयारियों की समीक्षा के साथ ही नामांकन प्रक्रियाओं एवं कक्ष का निरीक्षण किया। स्थानीय पी0डब्लू0डी0 के डाक बंगले के परिसर में सोशल डिस्टिेंसिंग का पालन कराते हुए निर्वाचन कार्यो एवं कोविड-19 की समीक्षा के साथ ही निर्माणाधीन मेडिकल कालेज का भी उनके द्वारा निरीक्षण किया गया। इस दौरान आवश्यक निर्देश संबंधित अधिकारियों को उनके द्वारा दिए गये।


मण्डलायुक्त श्री नार्लिकर कलक्ट्रेट में पहॅुच कर कक्ष संख्या-4 में चल रहे नामांकन प्रक्रिया का जायजा लिया। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था से लेकर वेरिकेटिंग आदि की भी जानकारी लिये। समीक्षा बैठक में उन्होने उप निर्वाचन के सकुशल शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिये सभी को पूरी निष्ठा से कार्य किये जाने का निर्देश दिया।

उन्होने राजनैतिक दलों के अध्यक्षों की भी बैठक कराकर उन्हे एम0सी0सी0 का पालन कराये जाने हेतु अवगत कराये जाने हेतु निर्देश दिया। उन्होने सेक्टर जोनल मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों की संयुक्त भ्रमण पर जोर देते हुए कहा कि इससे शान्तिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने में काफी सहुलियत होगी।

इस चुनाव में कोविड-19 का भी पालन कराया जाना है, इसके लिये उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी को इसके अनुश्रवण हेतु नोडल अधिकारी एवं टेस्टिंग हेतु मोबाइल वैन सहित अन्य आवश्यक सामानो की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने मुख्य राजस्व अधिकारी को नगर में साफ-सफाई व्यवस्था समुचित रुप से कराये जाने को कहा। उन्होने कहा कि किसी भी दशा में निर्वाचन प्रबंधन एवं कानून व्यवस्था प्रभावित न हो, यह सभी अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा।


डी0आई0जी0 श्री मोदक ने कहा कि क्रिटिकल एवं वर्नएबुल बूथों का चिन्हांकन कर लिया जाये एवं ऐसे बूथों का अपर पुलिस अधीक्षक अवश्य ही निरीक्षण कर लें। उन्होने कहा कि उप निर्वाचन को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु पर्याप्त पुलिस बल की रहेगी तैनाती। संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील, क्रिटिकल एवं वर्नएबुल बूथों पर अतिरिक्त पुलिस बल लगायी जायेगी। उन्होने पुलिस बल के रुकने के स्थल का भी क्षेत्राधिकारियों को निरीक्षण कर सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि बिहार में भी निर्वाचन के दृष्टिगत बार्डर मिटिंग कर ली गयी है और सभी एहतियाती उपायों को अमल में लाये जाने के निर्देश दिये गये है। पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र ने यह भी बताया कि सर्विलांस टीम लागयी गयी है और चेकिंग का कार्य चल रहा है। अपर जिलाधिकारी प्रशासन राकेश पटेल ने चुनाव की तैयारियों से अवगत करते हुए बताया कि सेक्टर मजिस्ट्रेटों एवं लेखपालों द्वारा सभी बूथों का निरीक्षण कर लिया गया है और सभी मतदेय स्थलों पर आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराया जा रहा है।


इसके उपरान्त मण्डलायुक्त श्री नार्लिकर ने कोविड-19 के कार्यो की समीक्षा की। उन्होने कान्टेक्ट टेªेसिंग एवं आर0आर0टी0 टीम के विजिट को प्राथमिकता के साथ कराये जाने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया। कहा कि आर0आर0टी0 टीम विजिट के दौरान दवाओं की उपलब्धता भी सुनिचित करायें तथा यह भी प्रतिदिन रिपोर्ट दें कि कौन मरीज होम आइसोलेशन में रहने लायक नही है, ऐसे मरीजो को मुख्य चिकित्साधिकारी कोविड अस्पतालों में भर्ती कर उसका इलाज सुनिश्चित करायेगें। उन्होने कहा कि इन सभी कार्यो के लिये नोडल अधिकारी नामित किये जाये और उनका प्रभावी तरीके से अनुश्रवण सुनिश्चित कराया जाये।
मण्डलायुक्त ने जनपद में सेम्पलिंग को और बढाये जाने के निर्देश के साथ कहा कि जिन क्षेत्रो में पाजिटिव केस ज्यादा है, वहां प्राथमिकता से टेस्टिंग का कार्य कराया जाये। उन्होने आर0टी0पी0सी0आर0 की जांच कम पाये जाने पर प्रत्येक एल0टी0 को एक-एक सौ का लक्ष्य निर्धारित कर उन्हे प्रतिदिन इसकी पूर्ति अनिवार्य रुप से किये जाने को कहा। उन्होने जिला अस्पताल में आर0टी0पी0सी0आर0 की एक जांच केन्द्र 24 घंटे संचालित कराये जाने का निर्देश सी0एम0ओ0/सी0एम0एस0 को दिया। उन्होने भलुअनी के प्रभारी चिकित्सक एवं एल0टी0 का स्पष्टीकरण तलब किये जाने के निर्देश के साथ कहा कि माह सितम्बर में किये गये टेस्टिंग की तुलना में माह अक्टूबर के 10 दिनो की टेस्टिंग काफी कम है। इसी तरह गौरीबाजार, रामपुर कारखाना, सलेमपुर, भागलपुर, बनकटा की टेस्टिंग माह सितम्बर की तुलना में इस माह के 10 दिनो में काफी कम पाये जाने पर उन्होने नाराजगी व्यक्त की तथा मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि क्यो कम हुआ है, इसका अनुश्रवण कर अवगत करायेगें तथा आर0टी0पी0सी0आर0 जांच को बढाते हुए टेस्टिंग कार्य में अनिवार्य रुप से सुधार सुनिश्चित करायेगें। बताया गया कि जिले के कई चिकित्सक अन्यत्र जगहो पर सम्बद्ध है, इस पर उन्होने कहा कि उससे संबंधित पत्र उपलब्ध करायें, ताकि उस पर आवश्यक कार्यवाही करायी जा सके।


मण्डलायुक्त ने मेडिकल निर्माण कार्यो की समीक्षा की तथा कार्य स्थल का भी निरीक्षण किया। उन्होने निर्माण कार्यो को युद्ध स्तर पर पूरा कराये जाने के निर्देश के साथ ही विधुत व्यवस्था की पूरी कार्य प्रस्ताव एवं सडक व जल निकासी की व्यवस्था की कार्ययोजना को मूर्त रुप दिये जाने हेतु संबंधित अधिशासी अभियंताओं को जिलाधिकारी के निर्देशन में उसे पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here