बैंक में जमा है पैसा, तो ध्यान से पढ़ लें आर.बी.आइ.का ये नियम।

विज्ञापन

संवाददाता- अतुल पति त्रिपाठी, देवरिया टाइम्स,तरकुलवा देवरिया, वैसे तो भारत देश में सरकारी बैंक,निजी बैंक और विदेशी बैंको सहित बहुत सारे को-आपरेटिव बैंक काम कर रहे हैं। लोग इन बैंकों में आंख बंद करके पैसा जमा करते हैं। लेकिन रिजर्व बैंक का नियम कुछ और कहता है। इसके अनुसार चाहे आपका 10 लाख रुपये या 10 करोड़ रुपये, कितना भी बैंक में जमा हो, लेकिन गारंटी केवल 1 लाख रुपये की ही है। यानी अगर बैंक डूब जाएगा या दिवालिया हो जाएगा, तो आपको केवल 1 लाख रुपये की वापस मिलेगा। इसी बात को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 22-07-2017 में एक सर्कुलर बैंकों को जारी किया था,जिसमें सभी बैंको को अपने ग्राहको को यह बताने के लिए कहा था, परन्तु बैंको को अपने ग्राहक टूटने का भय या देश के बैंकों की लापरवाही का यह नमूना है कि उन्होंने अभी तक इस पर अमल करना शुरू नहीं किया था। यही कारण है कि बैंक के खाताधारको इस बात की पूरी जानकारी नहीं मिल पा रही है। लेकिन पीएनबी और उसके बाद पीएमसी में हुए घोटाले के बाद अब कुछ बैंकों ने इस पर अमल करना शुरू किया है। आरबीआई का सर्कुलर आरबीआई ने 22 जुलाई 2017 को एक सर्कुलर जारी किया था। इस सर्कुलर में उसने बैंकों से कहा था कि वह अपने ग्राहकों को लिखित में बताएं कि उनका बैंक में जमा केवल 1 लाख रुपये की ही सुरक्षा की गारंटी मिलती है। बैंक में जमा 1 लाख रुपये तक की गारंटी सिक्यॉरिटी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी काॅर्पोरेशन (डीआईसीजीसी) देता है। यह आरबीआई के तहत काम करता है। लेकिन बैंकों ने ऐसा करना शुरू नहीं किया। लेकिन अचानक दो बैंक घोटाले सामने आने के बाद अब आरबीआई फिर से सक्रिय हुआ है। इसे बाद कुछ बैंकों ने ऐसी जानकारी अपने ग्राहकों को देना शुरू किया है।
बैंक खाताधारकों की केवल 1 लाख रुपये की जमा ही सुरक्षित (Safety of Bank Deposit) होती है। इसमें मूलधन और ब्‍याज दोनों को शामिल किया जाता है। इसको इस तरह समझा जा सकता कि अगर आपका 90 हजार रुपये मूलधन है और 10 हजार रुपये ब्‍याज है, तो आपका पूरा पैसा सुरक्षित है। लेकिन अगर आपका बैंक में 1 लाख रुपये जमा है और 20 हजार रुपये का ब्‍याज हो गया है, तो आपका 1.20 लाख रुपये नहीं केवल 1 लाख रुपये ही सुरक्षित है। इतना ही नहीं, अगर आपका एक ही बैंक की कई ब्रांच में अकाउंट है तो सभी बैंक खातों में जमा पैसे को जोड़ा जाएगा और केवल 1 लाख तक जमा को ही सुरक्षित माना जाएगा। बैंक खातों में जमा इससे ज्यादा जमा पैसा डूब जाएगा, इसलिए बैंक में जमा पैसों की सुरक्षा (Safety of Bank Deposit) का यह नियम याद रखना चाहिए।
कैसे करें बैंक में जमा पैसे की सुरक्षा?
भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (RBI) के नियमों के अनुसार एक व्‍यक्ति अगर एक से ज्‍यादा बैंकों (bank) में खाता रखता है, तो उसको हर बैंक में 1 लाख रुपये तक की जमा की सुरक्षा मिलती है। अगर उसका एक-एक लाख रुपये तक का अमाउंट कई बैंकों में है जमा है तो उसे हर बैंक से पूरा पैसा मिलेग। लेकिन अगर किसी भी बैंक (bank) में 1 लाख रुपये से ज्‍यादा जमा है तो फिर सिर्फ 1 लाख रुपये की जमा को ही सुरक्षित माना जाएगा और उतना ही पैसा सुरक्षित होगा।
कैसे होगी बैंक खाते की पहचान
अगर किसी व्यक्ति का एक बैंक खाता सिंगिल नाम से हैं, और दूसरा बैंक अकाउंट उसी बैंक में संयुक्त नाम से है, जिसमें पहला नाम आपका ही है। ऐसे में यह दोनों अकाउंट एक ही मानें जाएंगे। इन अकाउंट में कुल जमा को एक व्‍यक्‍ति का ही जमा माना जाएगा। लेकिन अगर आपका सिंगिल नाम से पहला अकाउंट है और दूसरा अकाउंट ज्‍वाइंट नाम से है, लेकिन ज्‍वाइंट अकाउंट में आपना नाम दूसरा है, तो यह अकाउंट आपका नहीं माना जाएगा। जिसका पहला नाम होगा यह ज्‍वाइंट अकाउंट उसका ही माना जाएगा। अगर कभी दिक्‍कत आई तो इस नियम के तहत ही आपको क्‍लेम मिलेगा।

विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here